मैथिली शायरी काव्य कोष

  • कविता
  • .-.
  • गजल
  • .-.
  • शायरी
  • .-.
  • गीत
  • .-.
  • मोनक के बात
  • .-.
  • अहिं हमर जान छी बिभा
  • .-.
  • नाटक चुटकुला हंसी मजाक
  • .-.
  • sachinkumarmandal141@gmail.com
  • .-.https://twitter.com/sachinmaithil79

Sunday, 5 November 2017

gajal-चाँद सं सुनर रूप आहाँ के

Image may contain: 1 person, smiling, closeup
लागै छी बहुतेक बेजोड़ यै !!
 ..............गजल ...............

चाँद सं सुनर रूप आहाँ के
आँइख में काजर कटोर यै !!

तै पर सं ठोरक लाली
लागै छी बहुतेक बेजोड़ यै !!


मांथक बिंदिया चमकैया
हाथक कंगना खनकैया
लाल सारी में परी लागैछी
पायल मचाबैया सोर यै


चाँद सं सुनर रूप आहाँ के
आँइख में काजर कटोर यै !! 

तै पर सं ठोरक लाली
लागै छी बहुतेक बेजोड़ यै !!




















 .
.
.
.
.
.



….. सचिन कुमार मैथिल

….. सचिन कुमार मैथिल
__ "घर_ आमाटोल
__" पोस्ट_ बिरपुर
__" थाना_ बासोपट्टी

__" जिला_ मधुबनी
__" मिथिला " ( बिहार )
__" Date :- 05/11/2017

__" Mo. 9576381126    

No comments:

Post a Comment